World War: 20 नवम्बर 2020 से लेकर 05 अप्रैल 2021 के मध्य विश्व युद्ध हो सकता है

world war
321Views

World War: 2020 कई मायनों में बहुत खास है। इस साल शनि, राहु और बृहस्पति के राशि परिवर्तन का रहेगा विशेष प्रभाव रहेगा। पंचांग गणना के अनुसार इस साल सभी 9 ग्रह अपनी राशि बदलेंगे।

ग्रहों की चाल बदलने से जीवन पर पड़ेगा गहरा असर,  यहां तक शनि भी 24जनवरी 2020 में धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करेंगे।

शनि के राशि बदलने से साढ़े साती का नया दौर शुरू होगा। साल की शुरुआत में शनि अस्त रहेंगे। 1 फरवरी 2020 को शनि का उदय होगा।
2020 की शुरुअत बृहस्पति के पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र में हुई है। वहीं बृहस्पति मार्गी और वक्री होते हुए धनु राशि और मकर राशि से गुजरेंगे।

इसलिए इन ग्रहों की राशि परिवर्तन से भारत में विशाल बदलाव भी देखने को मिलेंगे जिन्हें शताब्दी तक याद रखा जाएगा।

यह साल में में धनु राशि में पंचग्रही योग बनने और मंगल के स्वगृही होने से देश अर्थव्यवस्था पर गहरा असर पड़ेगा।

ये साल व्‍यापारी और नौकरीपेशा लोगों के लिए अत्यंत अमंगलकारी होगा ।

आप को याद होगा 1961-1962 में जब भारत और चीन में युद्ध हुआ था। पंचांग के अनुसार तब गुरु और शनि मकर राशि में एक साथ थे।

वर्तमान में शनिदेव 24 जनवरी 2020 को 30 वर्षों के बाद स्वराशि यानी स्वयं की राशि मकर में प्रवेश करेंगे । और 30 मार्च 2020 को गुरु धनु से शनि ग्रह की राशि मकर में प्रवेश करेंगे।

30 मार्च 2020 से लेकर 29 जून 2020 तक के गुरु-शनि की युति मकर राशि में रहेंगी । (आप को याद होगा इस दो माह की समयावधि कोरोना संक्रमण के कारण संपूर्ण देश और विश्व में lockdown था।)

और फिर दोबारा  गुरु 30 जून को वक्री होकर धनु राशि में आ जाएंगे।और फिर मार्गी हो कर 20 नवंबर को गुरु वापस मकर राशि में संचरण करेंगे, और 20 नवम्बर 2020 से लेकर 05 अप्रैल 2021 तक के गुरु-शनि की युति मकर राशि में रहेंगी।

यही वह समयावधि है जब भारत और चीन के मध्य युद्ध शुरुआत हो सकती है, जो विश्व युद्ध ( World War ) की भी शुरुआत हो सकती है।

यह भी जानें – Shani ki Sade Sati: क्या है शनि की साढ़े साती ?

admin
the authoradmin

Leave a Reply

two × 4 =